आखिर ताल्लुक तोड़ा बाकी

Posted by Raqim

पाया तुझको छोड़ा बाकी
आखिर ताल्लुक तोड़ा बाकी

सबसे ज्यादा तेरी कीमत
हमनें मुनाफा जोड़ा बाकी

रखकर आँख में थोड़ा पानी
अपना जिस्म निचोड़ा बाकी

सनद है कितनी रेत गर्म थी
तलवों में है फोड़ा बाकी

किस्से कहानी राजा रानी
ना हाथी ना घोड़ा बाकी

वरना मंजिल थी कदमों में
राहों में था रोड़ा बाकी

पूरे दुख को देखो राक़िम
सारी वजह है थोड़ा बाकी